पैसों की तंगी के कारण पढ़ाई पूरी नहीं कर पाया ये सिंगर.

सनी देओल के डायरेक्शन में बनी ‘पल पल दिल के पास’ ना केवल देओल परिवार बल्कि सिंगर हंसराज रघुवंशी के लिए भी बेहद खास रही. इस फिल्म ने उन्हें बॉलीवुड में एंट्री का मौका दिलवाया. हंसराज के लिए ये मौका इतनी आसानी से नहीं आया. इससे पहले उन्होंने काफी संघर्ष किया है. तब कहीं जाकर उन्हें दर्शकों का प्यार मिला. उनका पहला गाना ‘मेरा भोला है भंडारी’ ही दर्शकों की जुबान पर चढ़ गया. इस शुरुआत के बाद उन्हें सनी देओल ने अप्रोच किया, लेकिन एक समय ऐसा भी था जब पैसों की तंगी के चलते उन्हें बर्तन तक धोने पड़े थे.

एक इंटरव्यू के दौरान हंसराज ने बताया कि उन्होंने सिंगर सुरेश वर्मा के कहने पर सिंगिंग की शुरुआत की थी. उन्होंने कहा, मैंने सुरेश वर्मा से गाना लिखने को कहा था. इसके बाद ‘मेरा भोला है भंडारी’ गाना तैयार हुआ, जिसे मैंने आवाज दी. इस गाने को देशभर के लोगों ने अपना प्यार दिया.

हंसराज ने बताया कि पैसों की कमी के चलते वह अपनी पढ़ाई भी पूरी नहीं कर पाए. उन्होंने कहा, मैं जिस कॉलेज में पढ़ रहा था. मैंने उसी कॉलेज की कैंटीन में बर्तन धोने का काम किया. पैसों की वजह से वह आगे की पढ़ाई नहीं कर पाए. उन्होंने बताया कि जब वह मुंबई में सनी से मिले तो उन्हें अपना गाना ‘मेरा भोला है भंडारी’ गाया. इसके बाद सनी ने उन्हें ‘पल पल दिल के पास’ में एक गाने के लिए अप्रोच किया. हंसराज ने इस फिल्म में ‘आधा भी है ज्यादा’ गाना गाया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here